बेहतरीन शायरी इन हिंदी | | दिल को छू लेने वाली शायरी

बेहतरीन शायरी इन हिंदी आपके दोस्तों को भेजने के लिए. हिन्दी शायरी दोस्तों के लिए या फिर अपने फेसबुक प्रोफाइल पर और वाट्सएप पर भेजने के लिए यहाँ से देखें.

दोस्ती का रिश्ता दो अनजानों को जोड़ देता हैं, हर कदम पर ज़िन्दगी में नया मोड़ देता हैं, सच्चा दोस्त साथ तब देता हैं, जब अपना साया भी साथ छोड़ देता हैं.

Hindi Shayari Love Sad
Hindi Shayari Dosti

Dosti ka rishta do anjano ko jod deta hain,
Har kadam par zindagi me naya mod deta hain,
Sachcha dost sath tab deta hain……………..
Jab apna saya bhi sath chhod deta hain.

तुझे मैंने खुद से ज्यादा चाहा;
पर इजहार न कर सके हम,
काट दी सारी उम्र हमने,
तेरे अलावा प्यार किसी से न कर सकें हम;
तूने अब मांगी भी तो मुझसे जुदाई,
और हम थे जो आज भी इंकार न कर सकें.

बेहतरीन शायरी इन हिंदी

Tujhe maine khud se jyada chaha.
Par izhar na kar sake hum.
Kat di sari umr hamne.
Tere alava pyar kisi se na kar sake hum.
Tune ab mangi bhi to mujhse judai.
Or hum the jo aaj bhi inkar na kar sake.

अब तो करीब आओ जरा;
तेरे बिन जीना है मुश्किल मेरा,
दिल को तुमसे नहीं……..
तुम्हारी हर एक अदा से मोहब्बत हैं.

Ab to karib aao jara.
Tere bin jeena hai mushkil mera.
Dil ko tumse nahin……..
Tumhari har ek ada se mohbbat hain.

जादू सा है उसकी हर बात में;
याद बहुत आती है दिन और रात में;
कल जब देखा था मैंने उसका सपना रात में;
तब भी उसका हाथ था मेरे हाथ में.

Jadu sa hain uski har bat me,
Yaad bahut aati hain din or rat me,
Kal jab dekha tha maine uska sapna rat me.
Tab bhi uska hath tha mere hath me.

इस मोहब्बत का बदला कभी चूका ना सकेंगे;
चाह कर भी तुमे भुला ना सकेंगे,
तुम ही हो मेरे लबों की ख़ूबसूरत हंसी……….
तुमसे बिचड़े तो फिर मुस्कुरा ना सकेंगे.

बेहतरीन शेरो शायरी

Is mohbbat ka badla kabhi chuka naa sakenge,
Chah kar bhi bhula naa sakenge,
Tum hi ho mere labon kee khubsurat hansi………
Tumse bichade to fir muskura naa sakenge.

Tum hi ho mere labon kee khubsurat hansi
Tum hi ho mere labon kee khubsurat hansi

सोचा नहीं अच्छा बुरा,
देखा सुना कुछ भी नहीं,
माँगा खुदा से हर वक्त,
तेरे सिवा कुछ भी नहीं,
जिस पर हमारी आँख ने,
मोती बिछाए रात भर,
भेजा वही कागज उसे,
हमने लिखा कुछ भी नहीं.

Socha nahin achchha bura,
Dekha suna kuch bhi nahin,
Manga khuda se har wakt,
Tere siva kuch bhi nahin,
JIs par hamari aankh ne,
Moti vichay raat bhar,
Bheja wahi kagaj use,
hamne likha kuch bhi nahin.

हिन्दी शायरी

आ जाते है आँखों में आंसू;
फिर भी छुपाने पड़ते हैं,
ये लब मुस्कुराते नहीं,
फिर भी लबो पे हंसी रखनी पड़ती हैं,
ये मोहब्बत भी क्या चीज है यारों;
जिस से करते हैं मोहब्बत;
अक्सर उसी से छुपानी पड़ती हैं.

Aa jate hain aankhon me aansu,
Fir bhi chhupane padate hain,
Ye lab muskurate nahin,
Fir bhi labo pe hansi rakhni padti hai,
Ye mohbbat bhi kya cheej hai yaron,
Jis se karte hain mohbbat,
Aksar usi se chhupani padti hain.

जरा जरा सी बात पर……
तकरार करने लगा है,
लगता हैं वो मुझसे………
बेंतेहा प्यार करने लगा हैं.

Jara jara si bat par…….
Tkrar karne laga hai,
Lagata hain wo mujhse….
benteha pyar karne laga hain.

2 लाइन प्रेरणादायक शायरी

तुझपे ही होती हैं हर सुबह मेरी;
तुझपे ही होती है हर शाम मेरी;
कुछ ऐसा रिश्ता बन गया हैं,
तुझसे मेरा…
मेरी हर साँस पर हैं नाम तेरा.

Tujhpe hi hoti hain har subah meri,
Tujhpe hi hoti hain har sham meri,
Kuch aisa rishta ban gaya hain,
Tujhse mera….
Meri har sans par hain nam tera.

आँखों में रहने वालो को याद नहीं करते;
दिल में रहने वालो से बात नहीं करते;
हमारी तो रूह में बस गए हो तुम;
तभी तो तुम से मिलने की फरियाद नहीं करते.

Aankhon me rahne walo ko yaad nahin karte.
Dil me rahne walo se bat nahi karte.
Hamari to ruh me bas gayen ho tum.
Tabhi to tum se milne kee fariyad nahin karte.

मेरी नज़रो से दूर कहीं रहता हैं वो;
मेरे ख्यालों में हर लम्हा रहता है,
कहां है वो किस हल में है वो;
मेरा दिल हमेशा यही सवाल करता हैं.

Meri nazaron se dur kahin rahta hain wo;
Mere khyalon me har lamha rahta hain wo;
Kahan hai wo kis hal me hai wo;
Mera dil hamesha yahi sawal karta hain.

शायरी मोहब्बत भरी

मोहब्बत के इस काफिले को;
कुछ देर तो रोक लो;
आते है हम भी;
कुछ देर खुद को तो रोक लो.

Mohbbat ke is kafile ko;
Kuch der to rok lo;
Aate hain hum bhi,
Kuch der khud ko to rok lo.

मोहब्बत के इस काफिले को
मोहब्बत के इस काफिले को

मेरे खवाबो में आना तेरा कसूर था,
तुझसे दिल लगाना मेरा कसूर था,
तुम आये जिंदगी में पल दो पल के लिए,
तुमे जिंदगी समझ लेना मेरा कसूर था.

Mere khawabo me aana tera kasur tha,
Tujhse dil lagana mera kasur tha,
Tum aaye zindagi me pal do pal ke liye,
Tume zindagi samjh lena mera kasur tha.

मुझे रुला कर सोना तेरी आदत हैं,
देख लेना जिस दिन मेरी आँख ना खुली बेशक,
तुझे नींद से नफरत हो जाएगी,

Mujhe rula kar sona teri aadat hain.
Dekh lena Jis din meri aankh naa khuli beshak.
Tujhe nind se nafrat ho jayegi.

इश्क मोहब्बत की शायरी

लाख दलदल हो पांव जमाये रखिये,
हाथो में हाथ सदा रखिये,
कौन कहता है इश्क की कोई मंजिल नहीं;
मंजिल मिलने तक साथ तो निभाइए.

Lakh daldal ho panv jamaye rakhiye,
Hatho me hath sada rakhiye,
Koun kahta hain ishq ki koi majil nahin,
manjil milne tak sath to nibhaiye.

सुनो ना अरे जरा सुनो ना;
एक बार फिर से कह दो ना,
तुम सिर्फ मेरे हो ना..

Suno naa are jara suno naa,
Ek bar fir se kah do naa,
Tum sirf mere ho naa…

हो चुकी रात बहुत अब सो भी जाइये,
जो है दिल के करीब उसके ख्यालों में खो भी जाइये,
कर रहा होगा कोई इंतजार आपका,
ख्वाबों में ही सही मिल तो आइये.

Ho chuki raat bahut ab so bhi jaiye,
Jo hai dil ke karib uske khyalon me kho bhi jahiye,
Kar raha hoga koi intzar aapka,
Khwabon me hi sahi mil to aaiye.

मोहब्बत में जी गया कोई प्यार में मर गया

मोहब्बत में जी गया कोई प्यार में मर गया कोई,
ये मोहब्बत आग का सागर हैं फिर भी उतर गया कोई,
प्यार में ज़ख्म का किस्सा बहुत पुराना है दोस्तों…
जख्म दे गया कोई तो ज़ख़्म भर गया कोई…

Mohbbat me jee gaya koi pyar me mar gaya koi,
Mohbbat aag ka sagar hain fir bhi utar gaya koi,
Pyar me zakhm ka kissa bahut purana hai dosto……..
zakhm de gaya koi to zakhm bhar gaya koi………

Mohbbat me jee gaya koi
Mohbbat me jee gaya koi

मोहब्बत की कहूँ देवी या तुमको बंदगी कह दूँ,
बुरा मानो ना अगर हमदम तो तुमको ज़िन्दगी कह दूँ.

Mohbbar ki kahun devi ya tumko bandagi kah dun,
Bura mano naa agar hamdam to tumko zindagi kah dun.

दिल में छुपी कुछ बात है;
चेहरे पर दिख रहे जज्बात है,
हम नहीं समझेंगे तो……..
और कौन समझेगा जान,
क्योंकि तेरा दिल धडकता हमेशा मेरे साथ है.

Dil me chhupi kuch bat hai,
Chehre par dikh rahe jajbat hai,
Hum nahin samjhenge to……..
Or koun samjhega jaan,
Kyonki tera dil dhadkata hamesha mere sath hain.

गिले शिकवे दिल से न लगा लेना शायरी मोहब्बत भरी

गिले शिकवे दिल से न लगा लेना,
कभी रूठ जाऊ तो मना लेना,
कल का क्या पता हम हो न हों.
इसलिए जब भी मिलू प्यार से मेरा हाथ थाम लेना.

Gile shikve dil se na laga lena,
Kabhi ruth jau to mana lena,
Kal ka kya pata ham ho na hon.
Isliye jab bhi milu pyar se mera hath tham lena.

तेरी आँखों में आस हो तो मेरी हो;
तेरे होंठो पे प्यास हो तो मेरी हो,
जब तू बोले तो लब तेरे ही हिले,
मगर उन होंठो से आवाज़ मेरी हो……

Teri aankhon me aas ho to meri ho,
Tere hontho pe pyas ho to meri ho,
Jab tu bole to lab tere hi hile,
Magar un honthon se aawaz meri ho……..

Teri aankhon me aas ho to meri ho
Teri aankhon me aas ho to meri ho

आपके प्यार की हिफाजत………
कुछ ऐसा की मैंने,
जब भी किसी ने प्यार से देखा…….
तो नज़रे झुका ली मैंने.

Apke pyar ki hifajat……..
Kuch aisa ki maine,
Jab bhi kisi ne pyar se dekha……
To nazare jhuka li maine.

ऐ सनम कभी प्यार मत करना,
हो जाये तो इंकार मत करना,
निभा सको तो निभा देना,
लेकिन किसी की ज़िन्दगी बर्बाद मत करना.

Ae sanam kabhi pyar mat karna,
Ho jaye to inkar may karna,
Nibha sako to nibha dena,
Lakin kisi ki zindagi barbad mat karna.

Leave a comment